क्या आप जानते हैं कि हमारा जीवन पेड़ पर ही निर्भर है?

वन मानव जीवन के लिए बहुत उपयोगी है। सामान्य व्यक्ति नहीं जानता वनों के अभाव में वनों का महत्व अच्छी तरह से जानता है मानव जीवन संभव नहीं है। पिछले सौ वर्षों से वनों का दोहन हो रहा है। भ्रष्ट अधिकारी और धन शोधन करने वाले वन संपदा विनाश के लिए पर्याप्त हैं मौजूदा समय में पहाड़ियों पर ऐसा दिखाई नहीं देता। श्री सुंदरलाल बहुगुणा चिपको आंदोलन कर जंगल की रक्षा का प्रयास कर रहे हैं। अगर हम अपने इतिहास को देखें तो हमें पता चल जाएगा कि हमारे पूर्वज जंगल को बचाने के लिए बहुत ज्यादा लाल आए थे लेकिन उन्होंने जंगल को बचाने के लिए बहुत मेहनत की थी।

हमारे वनों से कई प्रकार के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष लाभ हैं। इन से हम जंगल जो उपयोग करता है की एक किस्म में आते हैं, वे ईंधन और इसी तरह के वर्षों के कई प्रकार का उत्पादन प्राप्त करते हैं ।

सागवान, देवदार, शीशम, चप्पल का उपयोग रेलरोड के स्लीपर और आजादी को बनाने के लिए किया जाता है। 1 जंगल के अलावा भी कई उपयोगी वस्तुएं हैं। जीवन उपयोगी जड़ी बूटी उपलब्ध दवाएं हैं। बारिश का संचालन नदियों से बेहद निकटता से है। भगवती सरन सिंह के शब्दों में, नदियां जंगल में बहती हैं और बहती हैं, यह नहीं रहेगी तो नदियां बहती रहेंगी। न तो हम आर्थिक प्रगति कर सकते हैं और न ही हम आर्थिक प्रगति कर सकते हैं और न ही हम स्वास्थ्य और खुशी की कल्पना कर सकते हैं । जंगल के पेड़ पर्यावरण से दूषित हवा लेकर ऑक्सीजन छोड़कर पर्यावरण को शुद्ध रखते हैं। पर्यावरण में संतुलन बनाए रखना बहुत उपयोगी वन ों से नियंत्रित वायुमंडलीय गर्मी और वायु प्रवाह की जलवायु है, जिससे सरकार और समाज में जलवायु को संतुलित करने के लिए श्रीमती महादेवी वर्मा ने वनों को रेखांकित करते हुए कहा कि उनकी रक्षा करने का प्रयास करना चाहिए । तारों से भरा प्राकृतिक सौंदर्य के माध्यम से चांदनी रात अच्छी तरह से खत्म कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!